नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » » आम आदमी सरकारी चंगुल में......: तृप्ति देसाई परेशान न हो, सीहोर आकर देखो यहां मंदिर में महिला पुजारी तक हैं

आम आदमी सरकारी चंगुल में......: तृप्ति देसाई परेशान न हो, सीहोर आकर देखो यहां मंदिर में महिला पुजारी तक हैं

Written By बरुण सखाजी on शनिवार, 25 जून 2016 | 9:33 pm

आम आदमी सरकारी चंगुल में......: तृप्ति देसाई परेशान न हो, सीहोर आकर देखो यहां मंदिर में महिला पुजारी तक हैं श्री गणेशाय नम:, ऊं एं ऊं, मातृस्मृति श्री सखायै नम:, हर-हर नर्मदे, गुरुदेव बाबा साईं.
Share this article :

3 टिप्पणियाँ:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (27-06-2016) को "अपना भारत देश-चमचे वफादार नहीं होते" (चर्चा अंक-2385) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

बरुण सखाजी ने कहा…

Shukriya sir

नासमझ कलम ............ ने कहा…

http://ajaysoni1984.blogspot.in/2016/09/blog-post.html

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.