नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » » हर कोई प्रतिभावान

हर कोई प्रतिभावान

Written By Minakshi Pant on शुक्रवार, 18 फ़रवरी 2011 | 9:18 am


लेखक , कवि व् साहित्यकार
तो पहले भी कई हुए |
 अपने - अपने विचारों से
सबने  पन्ने भी हैं भरे |
स्कूल , कालेजों मै ,
हमने भी उन्हें पढ़ा ,
पर क्या आज तक उनके
 कहने पे कोई  चला ?
हर किसी ने अपनी ही बात का
अनुसरण  है  किया |
क्युकी हर कोई अपनी
दिल कि कहानी लिखता  है |
अपनी ही सोच को ...............
 ख़ाली कर .............. आने वाली
सोच का स्वागत करता है |
 ये उसकी एक छोटी सी...
कोशिश ही तो  होती है |
यु समझो अपने साथ बीते...
लम्हों कि सोगात  होती है | 
क्युकी ... इन्सान के सोच का
तो कोई अंत नहीं |
अगर कोई लिखने लगे तो
दिनकर , प्रेमचंद जी से भी कोई कम नहीं |
हर किसी के पास...
सोच का एक बड़ा खजाना है |
यु समझो सबने  अपने विचारों से
इतिहास को रचते  जाना है  |
Share this article :

3 टिप्पणियाँ:

वृक्षारोपण : एक कदम प्रकृति की ओर ने कहा…

हर किसी ने अपनी ही बात का
अनुसरण है किया |
क्युकी हर कोई अपनी
दिल कि कहानी लिखता है |



................
और् वो कहानी प्रत्येक हृदय को प्रभावित करती है



क्योंकि हार्दिक धरातल पर साम्य है।

बहुत अच्छी रचना

Dr. shyam gupta ने कहा…

सही कहा-
--हर कोई अपनी
दिल कि कहानी लिखता है |
---पर...उस दिल में कहानी औरों की कहानी पढने-सुनने से ही आती है....

Dilbag Virk ने कहा…

bat to aapne theek kahi hai par isse main sahmat nhin hoon
अगर कोई लिखने लगे तो
दिनकर , प्रेमचंद जी से भी कोई कम नहीं |
vaise main to tulna ko bhi uchit nhin manta . har kisi ka apna sthan hona chahie

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.