नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » » मेरा भारत महान

मेरा भारत महान

Written By anamika ghatak on शनिवार, 7 मई 2011 | 8:13 pm

  • 1.भारत को दुनिया का सबसे बड़ा व पुरानी सभ्यता का देश मना जाता है 
  • २.पिछले 10,000 वर्षों के इतिहास में भारत किसी भी देश पर हमला नहीं किया.
  • ३.भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है.
  • ४.वाराणसी जिसे  बनारस भी रूप में भी जाना जाता है ,जब भगवान बुद्ध ने 500 BCE मेंदौरा किया तब उसे "प्राचीन शहर 'कहा जाता था. और आज दुनिया में निरंतर आगे बढ़ने वाला शहर है.
  • ५.भारत में नंबर सिस्टम का आविष्कार हुआ . शून्य आर्यभट्ट द्वारा आविष्कार किया गया था.
  • ६.दुनिया का पहला विश्वविद्यालय तक्षशिला में 700BC में स्थापित किया गया था. दुनिया भर से 10,500 से अधिक छात्रों ने  60 से अधिक विषयों का अध्ययन किया. नालंदा 
  • विश्वविद्यालय 4 शताब्दी ई.पू. जो शिक्षा के क्षेत्र में प्राचीन भारत की महानतम उपलब्धियों में से एक था में बनाया.
  • ७.संस्कृत सभी यूरोपीय भाषाओं की जननी है. फोर्ब्स पत्रिका, जुलाई 1987 में एक रिपोर्ट - संस्कृतकंप्यूटर सॉफ्टवेयर के लिए सबसे उपयुक्त भाषा है.
  • ८.आयुर्वेद मनुष्य के लिए ज्ञात सबसे आरंभिक चिकित्सा शाखा है.
  • ९.भारत 17 वीं शताब्दी में ब्रिटिश आक्रमण के समय पृथ्वी पर सबसे अमीर देश था.क्रिस्टोफर कोलंबस भारत की सम्पन्नता से ही  आकर्षित हुआ  था.
  • १०.नेविगेशन की कला सिंधु नदी में  6000 वर्ष पहले से शुरू  हुआ था. नेविगेशन शब्द  संस्कृत शब्द नवगति  से ली गई है. शब्द नौ सेना भी संस्कृत शब्द नोउ से ली गई है.
  • ११.भारत विश्व में वैज्ञानिकों और इंजीनियरों का दूसरा सबसे बड़ा पूल है ..
  • १२.भारत दुनिया में सबसे बड़ा अंग्रेजी भाषी देश है.
  • १३.भारत अमेरिका और जापान के अतिरिक्त एकमात्र देश है जिसने अपने देश में सुपर कोम्प्यूटर का निर्माण किया है 


Share this article :

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.