नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » » सरकार के मंत्री के पति सांसद ने हथियार उठाये

सरकार के मंत्री के पति सांसद ने हथियार उठाये

Written By Akhtar khan Akela on बुधवार, 2 मार्च 2011 | 8:30 am

सांसद और मंत्री डोक्टर किरोड़ी बंदूक लेकर डकेतों से मुकाबला करने जंगलों में पहुंचे

राजस्थान में दोसा के सांसद ,राजस्थान की सरकार को बनाने वाले मुख्य सूत्रधार और राजस्थान सरकार में खादी ग्रामोद्ध्योग मंत्री श्रीमती गोलमा देवी के पति निर्दलीय सांसद डोक्टर किरोड़ी मीणा ने राजस्थान में डकेतों से निपटने में सरकार को अक्षम बताया हे और खुद ही अपने साथियों के साथ बंदूके लेकर जंगलों में निकल पढ़े हें ।
सांसद किरोड़ी प्रति माह एक राजनीति और रचनात्मक राजनीति जिससे जनता उनसे जुड़ते हे करते रहे हें पहले भाजपा के दिग्गज कहलाने वाले जब भाजपा छोड़ कर निर्दलीय चुनाव लढे तो इनके प्रभाव से राजस्थान की १७ विधानसभा सीटें प्रभावित हुई हे और राजस्थान की सरकार बनाने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही हे इसी लियें आज किरोड़ी सरकार के बंगले में ही रहते हें पत्नी सरकार में मंत्री हे और राजस्थान सरकार के मंत्री के इसी बंगले में सरकार के खिलाफ सभी आन्दोलन की रणनीति बनाई जाती हे कभी बंद ,कभी धरना ,कभी रेली .कभी दंडवत रेली तो कभी कोई हंगामा किरोड़ी राजस्थान में चर्चा में रहते हें लेकिन आज वोह सरकार पर डकेतों से साठ गाँठ के आरोप लगा कर जब जंगलों में हथियार लेकर निकले हें तो सरकार को उन्होंने शर्मसार कर दिया हे ।
किरोड़ी का आरोप हे के अब तक पुलिस और डकेतों की मिली भगत से राजस्थान में डकेत जनता पर ज़ुल्म कर रहे हें निर्दोष लोगों की हत्याएं कर रहे हे लेकिन अब डकेतों को राजनितिक शरण मिल जाने से राजनीती उनके खिलाफ कुछ नहीं कर रही हे और उन डकेतों को जिन्होंने कई घर बर्बाद किये के महिलाओं को विधवा किया उनेक खिलाफ कोई कार्यवाही सरकार नहीं कर रही हे इसलियें अब जंगलों में डकेतों से निपटने के लियें उन्हें खुद को अपने साथियों के साथ मुकाबला करने के लियें हथियार लेकर निकलना पढ़ रहा हे ।
डोक्टर किरोड़ी सांसद की इस डकेतों के खिलाफ यात्रा में कई उनके साथी हे और कई पुलिस कर्मी उनकी सुरक्षा कर रहे हें सवाल यह हे के अगर किरोड़ी केवल राजनीती कर रहे हें तो फिर सरकार उनकी सुरक्षा क्यूँ कर रही हे हथियार लाइसेंसी हें या नहीं इसकी जांच क्यूँ नहीं कर रही और अगर वास्तव में जंगल में डकेत हें तो फिर अभियान चला कर इन डकेतों को खत्म क्यूँ नहीं कर रही । अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान
Share this article :

1 टिप्पणियाँ:

शालिनी कौशिक ने कहा…

नेता जो कर जाये वह कम ही है.

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.