नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » »

Written By Akhtar khan Akela on मंगलवार, 22 मार्च 2011 | 7:54 am

मोबाइल सेवादाताओं की खुली लूट जारी हे

मोबाइल सेवादाताओं  की खुली लूट जारी हे उनका नारा हे राम नाम की लूट मची हे लूट सके तो लूट और इस लूट में सरकार और सरकार की सभी एजेंसियों की मों सहमती बनी हुई हे . 
सरकार ने एक तरफ मोबाइल कम्पनियों से मिलकर अरबों रूपये का टू जी स्पेक्ट्रम घोटाला किया और फिर कम्पनियों को उपभोक्ताओं से लूट की छुट दे दी हे  देश में इन दिनों मोबाइल कंपनियों की लूट पर ट्राई और दूसरी एजेंसियों ने इस लूट को रोकने के लियें कोई कार्यवाही नहीं की हे टाटा हो चाहे बी एस ऍन एल हो चाहे दूसरी कम्पनियां हो सभी लोग अनचाहे कोल अनचाहे मेसेजों से जनता को दुखी किये हुए हें इतना हो तो ठीक हे लेकिन अब खुद मनमानी बिलिंग और पोस्ट पेड़ ग्राहकों से अनावश्यक मनमानी कटोती का काम तेज़ी से चल रहा हे कोई भी कम्पनी ग्राहक के रूपये डलवाते ही बिना कोल करे खत्म कर देती हे अव्वल तो इसका कोई शिकायत केंद्र नहीं हे और अगर कम्पनी तक कोई पहुंच भी जाए तो वोह कहते हें के हेड ऑफिस से बात करों हमारा कोई लेना देना नहीं हे फिर भी महीनों इस कटोती को रोकने में लग जाते हे और ग्राहक जो सेवा नहीं चाहता हे वोह सेवा उसे देकर जबरन कटोती की जाती हे शिकायत पर कहते हें के आप से गलती से कोई बटन दब गया होगा और लूट का यह सिलसिला टाटा इंडिकोम से लेकर बी एस ऍन एल सहित सभी मोबाइल कम्पनियों में तेज़ी से चल रही हे और एक दिन में विभिन्न ग्राहकों से करोड़ों रूपये इस बेईमानी से लूट कर कम्पनियां अपना घर भर रही हें और सरकार सरकार की एजेंसी ट्राई संचार  विभाग इस मामले में हमजोली बना हे और कम्पनियों से फिल गुड लेकर इसके अधिकारी मूकदर्शक बन गये हें ऐसी कम्पनियों के खिलाफ लोकल स्तर पर कार्यवाही का मंच बनना चाहिए ताकि कम्पनी के दोषी लोगों के खिलाफ कार्यवाही हो सके ............. अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान
Share this article :

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.