नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » » jay ho ! [part-2]

jay ho ! [part-2]

Written By shikha kaushik on मंगलवार, 8 मार्च 2011 | 2:32 am


आज ब्लॉग -जगत में सर्वत्र स्त्री-शक्ति का बोलबाला है .एल. बी. ए. की अध्यक्ष पद पर  rekha shrivastav जी की नियुक्ति ,AIBA  के अध्यक्ष पद vandana जी की नियुक्ति ,HBIF पर संरक्षिका पद पर rashmi prabha जी व् कानूनी सलाहकार पद पर shalini जी की नियुक्ति इसके मात्र कुछ उदाहरण हैं .नारी के सर्वाधिक सम्मानीय पद ''माँ '' की महिमा को प्रणाम करते हुए  महत्वपूर्ण ब्लॉग - ''pyari maa '' ब्लॉग जगत में सराहा  जा रहा  हैं .''rachna'' जी के कुशल निर्देशन में ''nari ' व् ''nari ka kavita blog 'समस्त ब्लॉग संसार में अपना अनुपम स्थान बनाये हुए है क्योकि ये दोनों ब्लॉग एक मात्र ऐसे ब्लॉग है जिन पर केवल महिला चिट्ठाकार अपनी पोस्ट प्रकाशित कर सकती हैं .शुभम जैन जी का ''nanhi pari 'ब्लॉग हमारी 'छोटी सी परियों को ब्लॉग जगत से जोड़ रहा है .' अक्षिता पाखी    'का नाम इस दिशा में विशेष रूप से उल्लेखनीय है .इनके अतिरिक्त  ''betiyon ka blog '' व् ''hamari bahan sharmila '' ब्लॉग भी नारी के ब्लॉग जगत में बढते क़दमों की और संकेत कर रहें हैं .
                       आइये फिर से मिलकर कहें --''जय हो ! ''
       ''आओ करें वंदना हम उस देवी की
          जिसकी नूतन दीपशिखा ने जग चमकाया ,
''alokita'   'anita '' या   हो वो ' sangeeta '
सबकी नई ' serjana ' ने मन को है जीता ,
'priyanka 'ने लेखन से की है 'pooja '
''monika ''की पवित्र लेखनी करे अजूबा ,
''veena '' और ''lata '' ने सबका मन हर्षाया .
अपनी अद्भुत प्रतिभा का लोहा मन वाया .

'नारी मुक्ति -''asha '' ने फैलाई ''roshi'नी
सतत-'sadhna' लीन ''ajit'  'shalini'
'anshumala' 'anu ' बढाती चिटठा''garima '' ,
'manvindar' -'padma' के संग संग चले 'neelima'
हर ''deep 'की 'mala 'ने फिजाओं को महकाया .
अपनी अद्भुत प्रतिभा का लोहा मनवाया .
 [कविता में प्रयुक्त महिला -चिट्ठाकारों के ब्लॉग पर जाकर उनका उत्साहवर्धन करें ]
        'अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनायें '
                              ''जय हो !''
लेखिका -shikha kaushik
सहायिका -shalini kaushik

                                   [जारी...........]
Share this article :

1 टिप्पणियाँ:

वन्दना ने कहा…

शिखा जी,
सबसे पहले तो महिला दिवस की हार्दिक बधाई।
आपने जिस अन्दाज़ मे महिला दिवस पर महिलाओ का उत्साहवर्धन किया है वो काबिल-ए-तारीफ़ है…………आपकी जुगलबंदी भी मन को बहुत भायी।
अभी मेरे पास एक मेल आई जिसमे एक नाम पर कुछ आपत्ति आई है जो आपने यहाँ प्रस्तुत किये है हो सकता है आपने उनका लिंक ना देखा हो बस उनका नाम ही लिख दिया हो क्योंकि उनके ब्लोग पर जाने पर कोई पोस्ट पढने को नही मिल रही सिर्फ़ ब्लोग बना हुआ है ………मैने तो नही देखा था क्योंकि अभी आई हूँ ब्लोग पर मगर मेल मे जब देखा तो यहाँ आकर पता चला ………ये अपर्णा नाम के ब्लोग मे कोई पोस्ट नही है ………उम्मीद है आप बुरा नही मानेंगी क्योंकि समझ सकती हूँ कभी कभी अति उत्साह या बेध्यानी मे ऐसा हो जाता है और ऐसा हम सब के साथ होता है……………वैसे आपका अन्दाज़-ए-बयाँ बहुत ही पसन्द आया…………अपना अन्दाज़ जारी रखियेगा………हमे भी आगे का इंतज़ार है।

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.