नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » » दुनिया की बातें, होती हैं सच्ची

दुनिया की बातें, होती हैं सच्ची

Written By Brahmachari Prahladanand on गुरुवार, 28 जुलाई 2011 | 8:07 am

हमको पता था जिन्दगी के फसाद का |
पहले ही तैयार था, तरीका निजाद का || 1 ||

मुश्किलों से न भागना कभी |
मकसद न बदलना कभी |
रास्ता न छोड़ना कभी |
मंजिलें मिल जाती हैं सभी  || 2 ||

हर समंदर का साहिल नहीं होता |
हर गंवार जाहिल नहीं होता |
हर इंसान काहिल नहीं होता |
हर मामा माहिल नहीं होता || 3 ||

दुनिया की बातें, होती हैं सच्ची, भले ही वह, क्यूँ न लगें अच्छी |
चोट कर जाती हैं, आदमी को बदल जाती हैं, भले ही वह, क्यूँ न लगें अच्छी || 4 ||

खुशवार, हो जाती है, जिन्दगी थोड़े-से प्यार से |
दुशवार, हो जाती है, जिन्दगी थोड़ी-सी तकरार से |
गर बात समझ लो इतनी सी |
तो खुशियों से भर जाती है जिन्दगी || 5 ||

रास्ता पता नहीं तो किसी को बताया मत करो |
गलत रास्ता बता कर किसी को भटकाया मत करो |
रास्ते जिन्दगी के एक न एक दिन मिल ही जाते हैं |
पर रास्ते रूहानी के भटक गये तो बस भटक ही जाते हैं || 6 ||

                                                   ------- बेतखल्लुस

.
Share this article :

1 टिप्पणियाँ:

शालिनी कौशिक ने कहा…

रास्ता पता नहीं तो किसी को बताया मत करो |
गलत रास्ता बता कर किसी को भटकाया मत करो |
रास्ते जिन्दगी के एक न एक दिन मिल ही जाते हैं |
पर रास्ते रूहानी के भटक गये तो बस भटक ही जाते हैं || ६

खूब कहा आपने सार्थक भावाभिव्यक्ति.बधाई

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.