नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » , , » ख़ुशी और दर्द

ख़ुशी और दर्द

Written By Neeraj Dwivedi on शनिवार, 30 जुलाई 2011 | 8:37 am



ये दोस्त भी कभी कभी, अजीब सी बातें किया करते हैं,
लिखो तो ख़ुशी पर लिखा करो, अक्सर कहा करते हैं ,
उन्हें पता है की कोशिश तो, हम भी यही किया करते हैं,
पर क्या करें हम भी, जो ये पन्ने बस दर्द बयां करते हैं॥


Share this article :

5 टिप्पणियाँ:

vidhya ने कहा…

vah keya baat hai

Pappu Parihar ने कहा…

जुबाँ पे दर्द भरी दांस्ता चली आई |
यह तो पुराना शगल है मेरे भाई |

Anil Avtaar ने कहा…

Dwiwedi Ji.. Bahut hi acchhi rachna.. Bahut hi kam shabdon mein..
aabhar..

vishy ने कहा…

sundar

लिकं हैhttp://bachpan ke din-vishy.blogspot.com/
अगर आपको love everbody का यह प्रयास पसंद आया हो, तो कृपया फॉलोअर बन कर हमारा उत्साह अवश्य बढ़ाएँ।

vishy ने कहा…

sundar

लिकं हैhttp://bachpan ke din-vishy.blogspot.com/
अगर आपको bachpan ke din-vishy का यह प्रयास पसंद आया हो, तो कृपया फॉलोअर बन कर हमारा उत्साह अवश्य बढ़ाएँ।

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.