नियम व निति निर्देशिका::: AIBA के सदस्यगण से यह आशा की जाती है कि वह निम्नलिखित नियमों का अक्षरशः पालन करेंगे और यह अनुपालित न करने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से AIBA की सदस्यता से निलम्बित किया जा सकता है: *कोई भी सदस्य अपनी पोस्ट/लेख को केवल ड्राफ्ट में ही सेव करेगा/करेगी. *पोस्ट/लेख को किसी भी दशा में पब्लिश नहीं करेगा/करेगी. इन दो नियमों का पालन करना सभी सदस्यों के लिए अनिवार्य है. द्वारा:- ADMIN, AIBA

Home » , , » चार संत की भीड़ जुटाकर हवन यज्ञं मत करना

चार संत की भीड़ जुटाकर हवन यज्ञं मत करना

Written By Surendra shukla" Bhramar"5 on शनिवार, 2 जुलाई 2011 | 10:13 am


चार संत की भीड़ जुटाकर 
हवन यज्ञं मत करना 

पहले गीदड़ भभकी होती 
बन्दर घुड़की होती !
चार जाने मिल कर लेते थे 
अपने घर रखवाली !
सीटी जरा बजा देने पर 
भीड़ थी जुटती भारी !
सिर पर पाँव रखे कुछ भागें !
साथ साथ उठ के सब धाते !
रात रात भर रहते जागे !!
अब तो सोये सभी पड़े हैं 
चाहे ढोल बजाओ !
उनके -घर सब मरे पड़े हैं 
भीड़ लगे -उठ -जगा दिखाओ  
अब तो शेर दहाड़े -"भाई"
कुछ करोड़ ले आना !
भरा समुन्दर -भंवर बड़ी है 
माझी कुशल जुटाना !!
ताकत हो जिनकी बांहों में 
दूर दृष्टि जो रखते !
कुटिल नीति चाणक्य बड़े हैं 
उनकी जान बचाए !
बज्र हमारा चुरा लिए हैं 
गरजें -  अब चिल्लाएं !
हर नुक्कड़ चौराहे देखो 
राक्षस - संत बने घुस आये !
उनकी रोज परीक्षा करना 
हीरा-कांच परख तू रखना !
--------------------------
चार संत की भीड़ जुटाकर 
हवन यज्ञं  मत करना !
परसुराम-संग राम बुलाकर 
खुद की रक्षा करना !
पहले - इतिहास तो देख लिए 
अब वर्तमान को बुनना !
देश -काल कुछ पढो "भ्रमर" तुम 
प्रेम सीख -बस कैद न मरना !!
-------------------------------

शुक्ल भ्रमर 
२९.०६.२०११
जल पी बी 
Share this article :

3 टिप्पणियाँ:

रविकर ने कहा…

बहुत सुन्दर पंक्तियाँ ||

सीटी जरा बजा देने पर
भीड़ थी जुटती भारी !
सिर पर पाँव रखे कुछ भागें !
साथ साथ उठ के सब धाते !
रात रात भर रहते जागे !!
अब तो सोये सभी पड़े हैं
चाहे ढोल बजाओ !

Surendra shukla" Bhramar"5 ने कहा…

प्रिय रविकर जी -हार्दिक अभिवादन

पहरेदारी जब होती थी पहले दुसरे के आहट पर लोग दौड़े जान खतरे में डाले चले आते थे तब थी वो मर्दानगी अब तो ....

जाट देवता (संदीप पवाँर) ने कहा…

जब तक केन्द्र में कांग्रेस है, एक से भी डर लगता है।

एक टिप्पणी भेजें

Thanks for your valuable comment.